Writer appeals to public for voting through short poem

Share this post on:


भारत के सब जन करें, पूर्ण मतदान । निहित इसी में है सकल राष्ट्र उत्थान।। सकल राष्ट्र उत्थान, मिलेंगे अच्छे नेता। एक आप के मत से संभव सभ्य विजेता।। कहें सुधाकर बनो सहारा तुम आरत के। भाग्य विधाता हे मतदाता तुम भारत के।

Written by: Sudhakar Gupta