गृह मंत्रालय ने तस्लीमा नसरीन की भारत में निवास अवधि एक साल के लिए बढ़ाई

नई दिल्ली, 21 जुलाई (हि.स.)।केंद्र सरकार  ने बांग्लादेश से निष्कासित विवादित लेखिका तस्लीमा नसरीन का रेजीडेंस परमिट (निवास अनुमति) एक साल के लिए बढ़ा दिया है। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने उनके आग्रह पर विचार करते हुए  भारत में उनके निवास की अवधि जुलाई 2020 तक के लिए बढ़ा दी है।

स्वीडन की नागरिकता प्राप्त तस्लीमा वर्ष 2004 से लगातार भारत में निवास की अवधि को उनके आग्रह पर बढ़ाया जाता रहा है। गृह मंत्रालय से जुड़े सूत्रों ने बताया कि 56 वर्षीय लेखिका को पिछले सप्ताह तीन महीने की निवास अनुमति दी गई थी, जिसके बाद उन्होंने ट्विटर पर ट्वीट कर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से आग्रह किया था कि वह उनके निवास की अवधि एक साल के लिए बढ़ा दें।

तस्लीमा नसरीन ने शाह को ट्वीट कर कहा कि उन्होंने पांच साल के लिए भारत में निवास अनुमति की मांग की थी, किंतु उन्हें एक साल की ही स्वीकृति मिली है। उन्होने बताया कि पूर्व गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने अपने कार्यकाल के दौरान उन्हें आश्वस्त किया था कि वह भारत में उनके निवास की अवधि 50 वर्ष के लिए कर देंगे। लेखिका ने ट्वीट में शाह से कहा कि भारत ही उनका एकमात्र घर है और उम्मीद है कि वह उनकी मदद करेंगे। उल्लेखनीय है कि तस्लीमा ने गत 17 जुलाई को यह ट्वीट किया था।

तस्लीमा  को कथित इस्लाम विरोधी विचारों के लिए कट्टरपंथी संगठनों की ओर से मौत की धमकी मिलने की वजह से बांग्लादेश से निर्वासित होना पड़ा था।

How useful was this News?

Click on a star to rate it!

Average rating 5 / 5. Vote count: 1

No votes so far! Be the first to rate this news.

As you found this news useful...

Follow us on social media!